Democracy In A Jungle

एक बार जंगल में डिमॉक्रेसी आ गयी।चुनाव हुए और बंदर राजा बन गया।

सब ख़ुश हो गए। ऐसा लगा की अब सब ठीक हो जाएगा। और अच्छे दिन आएँगे ।

एक दिन एक खरगोश भागता हुआ बंदर के पास आया। और बंदर को बोला की उसके पीछे शेर पड़ गया है। उसकी जान ख़तरे में है।

राजा बंदर ने सुनते ही एक पेड़ से दूसरे पेड़ पर छलाँग लगा दी।

फिर खरगोश चिल्लाया और बोला कि शेर क़रीब आ गया है। अगर आप शेर को नहीं रोकेंगे तो वो मेरी जान मार देगा।

फिर बंदर ने छलाँग लगा दी। जितना खरगोश चिल्लाता, बंदर उतनी छलाँग लगा देता।

अंत में खरगोश झल्ला के बोला कि तुम कैसे राजा हो जो मेरे लिए कुछ नहीं कर सकते।

बंदर बोला की मैं जान तो नहीं बचा सकता। चूँकि में राजा हूँ कुछ तो करना पड़ेगा, सो एक पेड़ से दूसरे पेड़ पर कूद रहा हूँ।

 
4
Kudos
 
4
Kudos

Now read this

Police & Judicial Apathy

Another gang rape in UP It’s not a one off crime. Crimes took place under Samajwadi Party’s tenure; 2012 to 2017. It’s just continued. The victim’s relative is in deep shock. He is asking for help. He is hopeless. It got me thinking. How... Continue →